No one can do good acting with Rhea Chakravarty – Shekhar Suman | रिया चक्रवर्ती पर फिर बरसे Shekhar Suman, बोले, ‘अब अपने भाई को कैसे झुठलाओगी’

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के बाद से लगातार अब तक कई तरह की बातों और कई तरह के आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी था. लेकिन अब यह गुत्थी कुछ सुलझती नजर आ रही है. इस मामले में लगातार बेबाकी से बयान देने वाले दिग्गज अभिनेता शेखर सुमन (Shekhar Suman) ने फिर तीखे अंदाज में अपनी बात कही है. अब ZEE NEWS से हुई बातचीत में शेखर सुमन (Shekhar Suman) मामले की आरोपी और सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवती (Rhea Chakraborty) पर भड़कते नजर आए. आइए जानते हैं कि इस बातचीत में क्या कहा अभिनेता ने…

प्रश्न: प्रायोजित इंटरव्यू में सुशांत को बदनाम करने की कोशिश की गई, अब रिया के भाई ने कहा कि वह ड्रग्स मंगवाती थीं, अब आप क्या कहेंगे? 
शेखर सुमन: अब आपके (रिया चक्रवर्ती) पास कहने के लिए क्या रहा गया है, हिंदोस्तान यह सुनना चाहता है कि क्या अब आप अपने भाई को भी झुठलाएंगी? अपने परिवार को भी झुठलाएंगी? कितने शर्म की बात है कि पूरा का पूरा परिवार लिप्त था ड्रग्स में, इसकी तस्करी में, इसका बिजनेस कर रहा था. इसके सारे सबूत सामने आ चुके हैं. जब आपने सपाट चेहरा बनाकर प्रायोजित इंटरव्यू में कहा कि मैं ड्रग्स लेती नहीं थी, मैं इसके बारे में बात नहीं करना चाहती. तभी से आपके झूठ की शुरुआत हो गई थी. 

पहले तो मैं भी थोड़ा बहक रहा था क्योंकि ये बातें रिया इतने भावुक होकर कह रही थीं. लेकिन जैसे ही सुशांत का नाम सामने आया आपने आगे बढ़कर कह दिया कि वो तो नशेड़ी था, वो तो गंजेड़ी था, वो तो चरसी था, तमाम आरोप उसपर लगाए, वो जो चला गया.लेकिन मान लीजिए अगर वो (ड्रग्स) लेता था, आप उसे प्यार करती थी तो उसे बचातीं या आप कह सकती थीं कि जो चला गया मैं उसके बारे में कोई बात नहीं करना चाहती. उसके विपरीत आपने इतने सारे आरोप उनपर लगा दिए. उनके पिता, बहनें, जीजा और परिवार पर भी. 

प्रश्न: यह जवाब शायद पूरा हिंदोस्तान जानना चाहता है कि जब फांसी पे लटके हुए सुशांत की कोई फोटो नहीं थी तो ये आत्महत्या की थ्योरी पैदा कहां हुई और किसने की?

शेखर सुमन: जितने मास्टर माइंड हैं उन्होंने ही रची है ये थ्योरी, जब इतना बड़ा गुनाह हो रहा था तो आसान तरीका यही है कि कह दें सुसाइड है. बात दफन हो जाती. बहुत सारी बातें मैंने उठाई हैं, सुशांत सिम क्यों बदल रहा था? उसने सुसाइड नोट क्यों नहीं लिखा था? उसकी फांसी पर लटकती हुई तस्वीर किसी ने नहीं ली? क्या इतने लोगों में किसी की समझ नहीं आया कि एक तस्वीर लेनी बहुत जरूरी है? क्योंकि वह इस बात को अलग अंजाम देना चाहते थे. 

जो लोग बहुत करीबी घेरे में थे, जिन्होंने ये चक्रव्यूह रचा था पुलिस को शुरू में ही इन्हें गिरफ्त में लेना चाहिए था. लेकिन ये तो भागे फिर रहे थे. जो लोग सुशांत के लिए काम कर रहे थे, अब जो लोग बोल रहे हैं और सुशांत के खास बने हूए हैं लेकिन उन्होंने तो घर के अंदर रहकर ही सेंध लगा दी. उसके बाद कई सबूत निकलते गए. चाबी वाला कहां था उसकी जांच काफी दिनों के बाद हुई, बॉडी उतारने 3-4 लोग थे. हम CCTV फुटेज की मांग कर रहे थे. लेकिन सच यह है कि अब इन लोगों का खेल खत्म हो गया है.  

आपको बता दें कि इस मामले में शेखर सुमन ने पहले भी ZEE NEWS पर खुलकर बात की है. वह लगातार सुशांत को न्याय दिलाने की मुहिम में सुशांत के फैंस के साथ खड़े नजर आ रहे हैं. 

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़ें