Javed Akhtar said in court – Kangana Ranaut hid facts to order in her favor | Javed Akhtar ने Kangana Ranaut पर लगाए चौंकाने वाले आरोप, कोर्ट में दिया ये बयान

नई दिल्ली: बॉलीवुड गीतकार जावेद अख्तर (Javed Akhtar) ने आरोप लगाया है कि एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के वकील ने 28 जून को जानबूझकर बॉम्बे हाईकोर्ट (BOMBAY HIGH COURT) में उनके पासपोर्ट को रिन्यू करने के लिए अपने पक्ष में आदेश प्राप्त करने के लिए एक भ्रामक बयान दिया. अख्तर ने अब कोर्ट में कंगना के खिलाफ हस्तक्षेप की अर्जी दाखिल की है.

क्यों लगाया आरोप

इस आवेदन में, जावेद अख्तर (Javed Akhtar) ने कहा कि नवंबर 2020 में एक टीवी इंटरव्यू के दौरान कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के बारे में उनकी टिप्पणी को लेकर उनके खिलाफ आपराधिक मानहानि की शिकायत दर्ज की थी. उन्होंने कहा कि एक्ट्रेस के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही अब भी लंबित है.

जावेद ने लगाया ये आरोप

आवेदन के एक अंश में कहा गया है, ‘मैजिस्ट्रेट की अदालत, अंधेरी के समक्ष लंबित आपराधिक मामले (जावेद अख्तर की शिकायत) की जानकारी के बावजूद, याचिकाकर्ता नंबर 1 (कंगना रनौत) ने जानबूझकर गुमराह करने के इरादे से पासपोर्ट को लेकर अपने पक्ष में आदेश प्राप्त किया. ‘

जावेद ने की ऐसी मांग 

अख्तर ने बॉलीवुड एक्ट्रेस द्वारा दायर रिट याचिका में हस्तक्षेप करने की मांग की, जिन्होंने एक लेखक के कॉपीराइट का कथित रूप से उल्लंघन करने के लिए उनके खिलाफ जर्द एक FIR को चुनौती दी है. 

VIDEO

क्या है पूरा मामला 

बता दें कि कंगना पिछले महीने से अपने पासपोर्ट को रिन्यू कराने की कोशिश कर रही हैं ताकि वह एक फिल्म की शूटिंग के लिए हंगरी के बुडापेस्ट जा सकें, लेकिन प्राधिकरण उनके खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों का हवाला देते हुए रिन्यूअल में देरी कर रहा था. 28 जून को इस आवेदन पर सुनवाई के दौरान पासपोर्ट प्राधिकरण की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल अनिल सिंह ने उच्च न्यायालय को बताया कि कंगना की याचिका अस्पष्ट थी और यह स्पष्ट नहीं किया कि उनके खिलाफ कौन सी आपराधिक कार्यवाही लंबित है. जस्टिस एसएस शिंदे की अगुवाई वाली बेंच को ‘क्वीन’ एक्ट्रेस के वकील ने बताया कि उनके खिलाफ केवल दो FIR दर्ज की गई थी लेकिन इनमें आपराधिक कार्यवाही अभी तक शुरू नहीं हुई थी.

किन दो FIR का हुआ जिक्र 

वकील के अनुसार, बांद्रा पुलिस ने पहली FIR पिछले साल अक्टूबर में ‘अपने ट्वीट के जरिए धार्मिक मतभेद को बढ़ावा देने के लिए दर्ज की थी और दूसरी प्राथमिकी इस साल मार्च में दर्ज की गई थी. यह ‘दिद्दा: वारियर क्वीन ऑफ कश्मीर’ पुस्तक के लेखक ने आरोप लगाया था कि कंगना ने उनकी अनुमति के बिना पुस्तक के विषय पर एक फिल्म की घोषणा की.

यह भी पढ़ें- कियारा की पीली बिकिनी ने संडे का तापमान बढ़ाया, फोटो देखने से पहले संभाल लें दिल

एंटरटेनमेंट की लेटेस्ट और इंटरेस्टिंग खबरों के लिए यहां क्लिक कर Zee News के Entertainment Facebook Page को लाइक करें